ठंडाई,रसमलाई के साथ होली की मस्ती हो जाएगी डबल

ठंडाई,रसमलाई के साथ होली की मस्ती हो जाएगी डबल                     होली आने में गिनती के दिन बचे हैं। होली का त्योहार हो और ठंडाई की बात न हो ऐसा भला कैसे हो सकता है। इस खास त्योहार को और ___ भी खास बनाती है ठंडाई। आज हम आपको बता रहे हैं होली स्पेशल ठंडाई रसमलाई की रेसिपी-      सामग्री       सिरका- 7 चम्मच पानी- 3 लीटर चीनी-4 कप सामग्री दूध -2 कप चीनी- 3 कप इलायची- 1 चम्मच पिस्ता- 2 चम्मच काली मिर्च-2 चम्मच पानी- 3 लीटर सौंफ-1 चम्मच तरबूज के बीज-2 चम्मच गुलाबजल- 1 चम्मच गुलाब की पंखुड़ियां- आधा कप मुख्य डिश के लिए मैदा- 1 चम्मच बादाम-2 चम्मच                                         ठंडाई बनाने की विधि                                          एक कटोरे में कुछ बादाम, पिस्ता और खरबूजे के बीज तीनचार घंटे के लिए भिगो दें। इसके बाद इन्हें मिक्सर में डालकर एक पेस्ट बना लें। अब एक पैन में इलायची, सौंफ और काली मिर्च को भून लें। इसके बाद इन्हें पीसकर इनका पाउडर बना लें। एक बर्तन में दूध उबालें और उसमें केसर और चीनी डाल दें। उसे ठंडा होने दें। सभी मेवे और पिसे हुए मसाले उसमें मिला दें। इसके बाद उसमें गुलाब की पंखुड़ियां डाल दें। ठंडाई तैयार है।                                                                        रसमलाई बनाने के लिए                                            - रसमलाई बनाने के लिए: 4-5 कप पानी में सिरका डालें। इस सिरके को दूध में डालकर तब तक गर्म करें जब तक यह छेना नहीं बन जाता। छेना को एक कपड़े में रखकर इसमें से पानी निचोड़ दें। उसे अलग बर्तन में रख लें। छेना में थोड़ा सा मैदा मिलाएं और उसे गूंथ लें। इसके बाद इसको रसगुल्ले की तरह गोल बना लें। इसके बाद पानी में चीनी डालकर उबालें और सीरा बना लें। रसमलाई को सीरे में डालकर 5-10 मिनट के लिए उबाल लें। इसे निचोड़कर अतिरिक्त सीरा निकाल लें और उस पर ठंडई डालकर इसे परोसें।


Popular posts
MPEB के सीनियर ऑफिसर प्रदीप मिश्रा व अन्य साथी के साथ कालिंदी गोल्ड सिटी मैं मारपीट की घटना हुई घटना की रिपोर्ट बाणगंगा थाने में दर्ज कराई गई
Image
मां मातंगी महाविद्या साधना एवं कवच ,जप अघोरी भैरव गौरव गुरुजी मां कामाख्या धाम के आदेश एवं मार्गदर्शन में ही करें आदेश आदेश
Image
भारत देश प्रशंसा श्री विष्णु पुराण
Image
संस्था मानवता की पहचान द्वारा रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया
Image
रावेर खेड़ी स्थित श्रीमंत बाजीराव पेशवा प्रथम की समाधि का होगा जीर्णोद्धार बनेगा एक भव्य स्मारक।