सांवरिया सेठ मंदिर में अनजान महिला ने चढ़ाए 1 करोड़ रूपये

 राजस्थान के 'इस' मंदिर में अनजान महिला ने की करोड़ों रुपए के नोटों की बारिश


कैशलेस मुहीम के बीच करोड़ों का बैग लेकर पहुंची थी  



 


राजस्थान



 






समाचार ऑनलाइन- हमारे देश में ऐसे कई मंदिर हैं, जहां श्रध्दालुओं द्वारा चढ़ाए जाने वाला चढ़ावा करोड़ों में आता हैं. इन बड़े ट्रस्टों में तिरुपति बालाजी, शिर्डी का सांई मंदिर प्रमुख हैं. यहां तक एशिया के सबसे ज्यादा कमाई करने वाले मन्दिरों में भी यह दोनों मंदिर शुमार हैं. यहां लोग दिल खोलकर हीरे जवारात, सोना आदि का दान करते हैं. इनके अलावा राजस्थान के नाथद्वारा औऱ सांवलिया सेठ भी ऐसे दो मन्दिर हैं, जिनके दरबार में लोग खासकर व्यापारी हजारों-करोड़ों का दान देते हैं.





















हाल ही में इनमें से सांवलिया सेठ मन्दिर में करोड़ों का दान देने का मामला सामने आया है. अब चित्तौड़गढ़ जिले के मंडफिया स्थित सांवलिया सेठ का मंदिर भारी चढ़ावे को लेकर चर्चा का विषय बना हुआ हैं. बताया ज़ा रहा हैं कि यहां एक महिला ने नोटों की जैसे बारिश कर दी. उसने क़रीब सवा करोड़ रूपये की नकदी दान की हैं.


एक तरफ तो मोदी सरकार केशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा दे रही हैं ऐसे में सवा करोड़ का नगद दान चर्चा का विषय बना हुआ हैं.



बैग में भरकर लायी थी नोटों की गड्डियां…


बताया ज़ा रहा हैं कि यह महिला श्रध्दालु जलझूलनी मेले के आखरी दिन सांवलिया सेठ पहुंची औऱ भगवान के दर्शन किये. इसके बाद वह अपने साथ एक बैग लाई थी, जिसमें लिफाफों में लिपटी नोट की गड्डियां थी. महिला बड़े आराम से इन गड्डियों को एक-एक करके दानपात्र में डालने लगी. यह नजर देख वहां मौजूद लोग आश्चर्यचकित रह गये.


जिसने भी यह दृष्य देखा वो इस महिला दान दाता को देखते ही रह गया. इस महिला द्वारा करीब 50 से अधिक नगदी से भरे लिफाफे दानपात्र में डाले गए हैं, जिससे अनुमान लगाया ज़ा रहा हैं कि दान राशि क़रीब सवा करोड़ रुपये हो सकती हैं. इसके बाद से सांवलिया सेठ का यह मंदिर औऱ दान करने वाली महिला इन दिनों चर्चा का विषय बनी हुई हैं. इस दौरान महिला के नकदी डालने का वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है.



Popular posts
मां मातंगी महाविद्या साधना एवं कवच ,जप अघोरी भैरव गौरव गुरुजी मां कामाख्या धाम के आदेश एवं मार्गदर्शन में ही करें आदेश आदेश
Image
रुद्राक्ष धारण करने वाले के सारे कष्ट दूर हो जाते हैं आइये जानते हैं रुद्राक्ष कितने प्रकार के होते हैं
Image
जन्माष्टमी पर स्वयंसेवकों ने किया बंसी वादन
Image
रावेर खेड़ी स्थित श्रीमंत बाजीराव पेशवा प्रथम की समाधि का होगा जीर्णोद्धार बनेगा एक भव्य स्मारक।
MPEB के सीनियर ऑफिसर प्रदीप मिश्रा व अन्य साथी के साथ कालिंदी गोल्ड सिटी मैं मारपीट की घटना हुई घटना की रिपोर्ट बाणगंगा थाने में दर्ज कराई गई
Image